चेहरें से भोले भाले दिल से राजस्थानी है |

0

If you Like this Poem and If You are Rajasthani then Don’t Forgot to share on your Facebook and Whatsapp. 

अपनी तोह इतनी सी बस कहानी है ,
चेहरें से भोले भाले दिल से राजस्थानी है,
हम डरते नहीं किसी से भी लड़ने से,
हमने भी सुनी राजपूत महाराणा की कहानी है,
मिट्टी की खातिर जो हो गए शहीद,
हमने भी देखी हाकीम खां सूरी की जवानी है,
हमने मारवाड़ भी देखा है,
हमने चितौरा भी देखा है,
वफ़ा ढूंढ़ने कही नही जाते,
हमने चेतक का घोडा भी देखा है,
सुहाग को अपने जो सर काटकर देदे,
ऐसी सुहागनी भी देखी है,
हमने मीरा जैसी दीवानी भी देखी है,
“wazid” तेरे दिल की भी इतनी सी कहानी है,
चेहरें से भोले भाले दिल से राजस्थानी है.

Please share your Opinion about this Poem in Comment Section….

Comments

comments

LEAVE A REPLY